अस्पतालों की जांच-पड़ताल से हड़कंप

उरई/जालौन। एसडीएम अशोक कुमार और सीएचसी प्रभारी डॉ. आरके शुक्ला ने अस्पतालों पर छापेमारी की और उनके कागजों की पड़ताल की। बिना रजिस्ट्रेशन के पाए गए अस्पतालों को सप्ताह भर की मोहलत दी गई कि अपने रजिस्ट्रेशन करा लें अन्यथा कार्रवाई की जाएगी। गांव कस्बों में फर्जी डॉक्टरों की भरमार और मरीजों की जान से खिलवाड़ को रोकने की दिशा में शासन ने सख्त रुख अपनाया है। ऐसे अस्पतालों व चिकित्सकों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है जो फर्जी डिग्री की आड़ में मरीजों की जान के दुश्मन बन जाते हैं। 

इसके अलावा उन डॉक्टरों, जो बिना रजिस्ट्रेशन के अस्पताल चला रहे हैं, उन्हें भी रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा। एसडीएम अशोक कुमार व सीएचसी प्रभारी डॉ. आरके शुक्ला की संयुक्त टीम ने जब शासन के निर्देेश पर जब कस्बे के अस्पतालों का निरीक्षण शुरू किया तो हड़कंप मच गया और तमाम अस्पताल देखते-देखते बंद हो गए। जिन अस्पतालों का निरीक्षण किया गया उनमें कइयों के पास रजिस्ट्रेशन के कागज ही नहीं मिले। एसडीएम ने उन्हें चेतावनी दी सप्ताह भर में पंजीकरण करा लें अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहें।