कार और रुपयों की मांग को लेकर नवविवाहिता को जलाकर मारा


लखनऊ। राजधानी में एक नवविवाहिता की दर्दनाक जिंदा जलकर मौत हो गई। मृतका के पिता ने दामाद व उसके ससुरालियों पर जलाकर मारने का आरोप लगाया है। आरोप है कि दामाद ने फोन कर कहा कि सिविल अस्पताल पहुंचो तुम्हारे लिए गिफ्ट रखा है। वह अस्पताल पहुंचे तो बेटी की लाश स्ट्रेचर पर मिली। पुलिस के मुताबिक, मृतका का छह महीने पहले ही लॉकडाउन में निकाह हुआ था। मृतका के पति व ससुरालियों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है। घटना तालकटोरा क्षेत्र के अशरफनगर की है। यहां के निवासी शानू खान का छह माह पूर्व निकाह सआदतगंज के बीबीगंज निवासी जोया खान (20) पुत्री मो. चांद के साथ हुआ था। इंस्पेक्टर ताल कटोरा के मुताबिक, मृतका के पिता मो. चांद ने बताया कि मंगलवार देर रात दामाद ने फोन कर उन्हें बताया कि सिविल अस्पताल पहुंचो तुम्हारे लिए गिफ्ट रखा है। वह अस्पताल पहुंचे तो बेटी की लाश स्ट्रेचर पर मिली। बेटी का पूरा शरीर जला हुआ था। मो. चांद ने बताया कि निकाह के बाद से कार और रुपयों की मांग को लेकर शानू और उसके परिवारीजन अक्सर बेटी के साथ मारपीट करते थे। कई बार उनकी छोटी-मोटी मांगे पूरी भी की। पर कार नहीं दे पाए थे। इस कारण वह बेटी को आए दिन मारते-पीटते थे। मंगलवार रात उन्होंने बेटी को पीटा और जला दिया। उसके बाद आत्महत्या का रूप देने के लिए वह बेटी को सिविल अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने बेटी को मृत घोषित कर दिया। इंस्पेक्टर ताल कटोरा ने बताया कि मो. चांद की तहरीर पर मामले की जांच की जा रही है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। मृतका के पति शानू समेत कई लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।