गुमनाम पत्र से धमकीः हमें गंगाजल का प्रयोग आता है

लखनऊ। एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने उन्हें साधारण डाक से प्राप्त एक गुमनाम पत्र के संबंध में कार्यवाही की मांग की है। पुलिस कमिश्नर डी के ठाकुर को भेजी अपनी शिकायत में नूतन ने कहा कि उन्होंने कुछ दिन पहले ने मेसर्स हर्ष इंटरप्राइजेज के मुन्ना तिवारी तथा अवनी परिधि एनर्जी एंड कम्युनिकेशन प्रा०लि के अज्ञात गुप्ता द्वारा प्रदेश के कई सरकारी विभागों में मैनपावर सप्लाई में की गयी अनियमितता के संबंध में अभिलेखों एवं साक्ष्य सहित शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें साधारण डाक के माध्यम से एक गुमनाम अहस्ताक्षरित पत्र प्राप्त हुआ. इस पत्र में लिखा है कि नूतन द्वारा दी गयी उपरोक्त शिकायतों के क्रम में मुन्ना तिवारी, मेसर्स हर्ष इंटरप्राइजेज, उनके साथ कोई भी अनहोनी घटना करा सकते हैं और वे उन्हें रास्ते से हटवाना चाहते हैं। इसके बाद कल फिर उन्हें एक गुमनाम पत्र मिला जिसमे लिखा है कि नूतन पत्र लिखने वाले के मालिक के खिलाफ शिकायत तथा विभूतिखंड कोतवाली में दर्ज एफआईआर वापस ले ले वरना नूतन की आँखों पर नजर वाला चश्मा नहीं, काला चश्मा लगेगा. पत्र के कहा गया है- हमें भी गंगा जल का प्रयोग करना आता है। नूतन के अनुसार यह मामला पूरी तरह मैनपावर सप्लाई में अनियमितता से जुडी मेरी शिकायतों से संबंधित है, जिसमे उन्हें मुन्ना तिवारी तथा अज्ञात गुप्ता पर बराबर की शंका है क्योंकि इन्ही शिकायतों के बाद उन्हें इस प्रकार की धमकी मिल रही है। अतः उन्होंने इस संबंध में कठोर कार्यवाही की मांग की है।