गंगा एक्सप्रेस-वे, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं का कार्य पूरी तेजी से किया जाए

ड्रिप सिंचाई को अपनाने से काफी मात्रा में पानी की बचत की जा सकती है

ड्रिप सिंचाई को बढ़ावा देने के निर्देश, इस प्रणाली के लाभ के सम्बन्ध में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक किया जाए

नवीन बस अड्डों के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश

नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण के कार्यों की समीक्षा करने के निर्देश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सभी जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपद में आवश्यक खाद्य सामग्री के दाम को नियंत्रित रखने के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के दाम पर नजर रखी जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि जनता के दैनिक उपयोग से जुड़ी आवश्यक खाद्य सामग्री की जमाखोरी अथवा मुनाफाखोरी न होने पाए। उन्होंने इसमें संलिप्त पाए गए लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा जल संरक्षण के लिए प्रभावी प्रयास किये गए हैं। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग, तालाबों के पुनरुद्धार, बड़ी सख्ंया में चेकडैमों की स्थापना से भूगर्भ जल स्तर बढ़ा है। ड्रिप सिंचाई को अपनाने से काफी मात्रा में पानी की बचत की जा सकती है। उन्होंने ड्रिप सिंचाई को बढ़ावा देने के निर्देश देते हुए कहा कि इस प्रणाली के लाभ के सम्बन्ध में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार आमजन को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त ट्रांसपोर्ट सुविधाएं प्रदान कर रही है। परिवहन सेवाओं को बेहतर करने के लिए प्रभावी प्रयास लगातार जारी हैं। उन्होंने नवीन बस अड्डों के निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि इनके माध्यम से जनता को सुगम आवागमन की सुविधा मिलेगी।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में विकसित हो रही आधारभूत सुविधाएं राज्य की अर्थव्यवस्था को नई ऊँचाई प्रदान करेंगी। गंगा एक्सप्रेस-वे, बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं से प्रदेश में देश की सबसे अच्छी कनेक्टिविटी  सुविधा उपलब्ध होगी। इसके दृष्टिगत इन परियोजनाओं का कार्य पूरी तेजी से किया जाए। उन्होंने गंगा एक्सप्रेस-वे परियोजना के लिए भूमि की व्यवस्था शीघ्रता से करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश के औद्योगिक विकास में जनपद गौतमबुद्ध नगर का महत्वपूर्ण योगदान है। इस जिले के अन्तर्गत नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सम्पूर्ण क्षेत्र में विकास गतिविधियां तेजी से संचालित हो रही हैं। नोएडा अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, फिल्म सिटी सहित अनेक परियोजनाएं यहां विकसित की जा रही हैं। इसके दृष्टिगत उन्होंने नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण के कार्यों की समीक्षा किए जाने के निर्देश दिए।  

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा श्रीमती मोनिका एस0 गर्ग, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।