बीकेटी नगर पंचायत के कर्मचारियों का पांचवें चरण में हुआ टीकाकरण


                                               फ्रंट लाइन वर्कर्स को लगी कोविड वैक्सीन

लखनऊ : पांचवे चरण में पांच फरवरी को फ्रंट लाइन वर्कर्स का कोविड वैक्सीनेशन किया गया। इसी कड़ी में नगर विकास विभाग के अंर्तगत आने वाली बीकेटी नगर पंचायत के कर्मचारियों का भी वैक्सीनेशन किया गया। वैक्सीनेशन को लेकर सुबह से ही बीकेटी स्वास्थ्य समुदायिक केंद्र पर नगर पंचायत के फ्रंट लाइन वर्कर्स की लंबी कतार लग गई थी। बता दें कि कोविड की वैकसीन लगाने को लेकर नगर निगम के सफाई कर्मियों समेत अन्य कर्मचारियों में काफी उत्साह था। इस मौके पर नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन ने कहा कि आज सभी के सहयोग से उत्तर प्रदेश कोरोना से जंग में अव्वल स्थान पर है। साथ ही उन्होंने फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए कहा कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। जिन भी कर्मचारियों को आज कोविड वैक्सीन लगी है वे मास्क का प्रयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का प्रयोग जरूर करें।  

बीकेटी के स्वास्थ्य समुदायिक केंद्र अधीक्षक डॉ. जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि पांचवे चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स का कोविड वैक्सीनेशन किया जाना है। जिसमें राजस्व, पुलिस एवं पंचायत विभाग के कर्मचारी शामिल हैं। साथ ही उन्होंने नगर पंचायत के कर्मचारियों को लगे कोविड टीकाकरण की जानकारी देते हुए बताया कि 5 फरवरी 2021 को नगर पंचायत के 215 फ्रंट लाइन वर्कर्स में से कुल 126 फ्रंट लाइन वर्कर्स का कोविड वैक्सीनेशन किया गया। इसके अलावा जो लोग छूट गए हैं उनको भी कोविड वैक्सीन लगाई जाएगी। उनका कहना है कि कोरोना वैक्सीन का लाभ दिए जाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। श्री डॉ. सिंह ने ये भी बताया कि समुदायिक केंद्र पर 5 फरवरी 2021 को नगर पंचायत के कर्मचारियों के हुए वैक्सीनेशन में किसी भी कर्मचारी में कोई साइड इफेक्ट शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। समुदायिक केंद्र में इन कर्मचारियों को वैक्सीनेशन के बाद आधा घंटे ऑब्जर्वेशन कक्ष में रखा गया था। केंद्र पर दो ऑब्जर्वेशन कक्ष बनाए गए हैं और दो वेटिंग कक्ष बनाए गए हैं।

’टीका लगवाने से पहले एएनएम दे रही पूरी जानकारी’

टीका लगवाने से पूर्व यदि एलर्जी,बुखार,रक्त बहने या रक्त पतला करने की कोई दवा ले रहे हैं, या प्रतिरक्षा क्षमता कम है तो संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी को जानकारी दें। गर्भवती या स्तनपान एवं 18 वर्ष से कम तथा पूर्व में एलर्जी हुई है तो उनको टीका नहीं लगना है। ये जानकारी एएनएम टीकाकरण के दौरान दे रही थी। सीरम इंस्टीट्यूट की फैक्टशीट के अनुसार कोविशील्ड टीका 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए है। यह टीका उन लोगों को नहीं लगना है जिन्हें पहली खुराक के बाद गंभीर रूप से एलर्जी हुई हो। इसके लिए चिकित्सक से परामर्श लें। कोविशील्ड से जुड़े प्रतिकूल प्रभावों को लेकर सामान्य तौर पर तबीयत न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की शिकायत आम हो सकती है। वैक्सीन लगने के बाद कुछ घंटों में यदि कोई साइड इफेक्ट दिखता है तो इस बारे में वैक्सीन लगाने वाले को या टोल फ्री नंबर पर तत्काल जानकारी दें।