रिंकू मामले में आरोपियों को मिले फांसी : हिन्दू महासभा

लखनऊ। अखिल भारत हिन्दू महासभा, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी ने दिल्ली में राम मन्दिर के लिये चन्दा जुटाने वाले हिन्दूवादी रिन्कू शर्मा की हत्या की कड़ी निन्दा करते हुये दोशियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर जल्द से जल्द फांसी की सजा दी जाये। श्री त्रिवेदी ने आज यहां जारी अपने बयान में साफ कहा कि हाल के वर्षों में जिस तरह से भारत में हिन्दुओं को निशाना बनाया गया है, उससे साफ है कि यदि केन्द्र ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो आने वाला समय हिन्दू समाज के लिये बेहतर साबित नहीं होगा। श्री त्रिवेदी ने कहा कि भारत के बंटवारे के समय में गांधी नेहरू ने देश को धर्मनिरपेक्ष की चादर में लपेट कर देश में रह रहे हिन्दू समाज को खाई की ओर धकेलने का काम पहले ही कर गये, जिसका परिणाम आज सामने है। 

जबकि पाकिस्तान बनते ही इस्लामिक राष्ट्र बन गया। देश में हिन्दू-मुस्लिम एकता का नारा अलापने वाले भी आज तक नहीं समझ सके कि जिनका धर्म किसी दूसरे धर्म को नहीं मानता तो भारत में मुस्लिम समाज हिन्दू को अपना नहीं  मान सकते, जिसका उदाहरण रिन्कू शर्मा की हत्या के रूप में सामने आया है। जिसने हत्या करने वाले की पत्नी को बचाने के लिये अपना खून दिया हो और उसी की हत्या कर दी जाये। श्री त्रिवेदी ने कहा कि अब जरूरी हो गया है कि केन्द्र की मोदी सरकार को हिन्दुओं की सुरक्षा के लिये हिन्दु आयोग के गठन के साथ समान नागरिक संहिता और जनसंख्या नियंत्रण कानून को तत्काल लागू कर सख्ती के साथ अमल में लाया जाये, और अल्पसंख्यक के नाम पर खासकर मुस्लिम समुदायों को दी जा रही विशेष सुविधाओं को रोककर देश के नागरिक के तौर में लाभ दिया जाये, चाहे वह किसी जाति धर्म का क्यों न हो।