वामपंथियों ने दिया महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि


मऊ जनपद में संयुक्त वामपंथी दल व जन संगठनों ने बस स्टैंड पर महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर देशभर में किसान आंदोलन के दौरान शहीद होने वाले किसान साथियों सहित महात्मा गांधी को दी गई श्रद्धांजलि और रखा गया उपवास। इस उपवास कार्यक्रम में भाकपा, माकपा, भाकपा माले एमसीपीआई, इमके, एसयूसी आईसी, किसान संग्राम समिति, उत्तर प्रदेश किसान सभा, ने की भागीदारी। उपवास में शामिल वक्ताओं ने कहा कि किसानों के आंदोलन का दमन किया जाना लोकतांत्रिक मूल्यों पर हमला है किसानों का आंदोलन पूरे देश के आर्थिक हित के अनुकूल है। यह आंदोलन करोड़ों मजदूरों,मेहनतकश बुनकरों, बेरोजगारों, महिलाओं पीड़ितों के पक्ष में है। यही कारण है कि देश की बहुसंख्यक जनता मुट्ठी भर बड़े पूंजीपतियों के हित के लिए बनाए गए किसान,मजदूर और जनविरोधी तीनों कृषि कानूनों का को रद्द करने की मांग के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि देश के सामने पुनः लोकतंत्र की जगह फासीवाद के स्थापित हो जाने का खतरा मंडरा रहा है, इसका मुकाबला सभी प्रगतिशील शक्तियों,बुद्धिजीवियों पत्रकारों तथा संघर्षशील लोगों की को मिलकर करना होगा। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अर्चना उपाध्याय, सरोज सिंह, पूर्व विधायक कामरेड इम्तियाज अहमद,रामूप्रसाद, जयप्रकाश धूमकेतु, वीरेंद्र कुमार,अरविंद्र मूर्ति,बसंत कुमार राम सोच यादव,शमशुलहक चौधरी,श्री राम सिंह, संजीव कुमार, राम जन्म,गुलाबचंद, हरिलाल, विश्राम पाल, राजेंद्र अग्रवाल, अनुभव दास, रामजी सिंह, तीरथ राजभर साधू यादव,मुन्नू राम जयप्रकाश आदि।