उत्तराखंड प्राकृतिक आपदा पीड़ितों की बेहतरी के लिए हुआ अनुष्ठान


लखनऊ। उत्तराखंड के चमोली जिले में रविवार 7 फरवरी को ग्लेशियर फटने से अलकनंदा और धौलीगंगा नदियों में हिमस्खलन और बड़े पैमाने पर बाढ़ आ गई थी। उसके कारण जानमाल की हानि हुई थी। ऐसे में भीषण प्राकृतिक आपदा में जिनकी मृत्यु हुई है उनकी मुक्ति और पीड़ितों की बेहतरी के लिए बुधवार को निराला नगर के प्रतिष्ठित शिव मंदिर में मास की शिवरात्रि पर 51 मंगल दीपक प्रज्ज्वलित किये गए। सनातन रक्षादल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल की अगुआई में यह अनुष्ठान हुआ। इस अवसर पर बाबा भोलेनाथ का दुग्ध, जल आदि पंच द्रव्यों से अभिषेक किया गया। धूप, बेल, धतूरा, पुष्प, आदि अर्पित करने के बाद आचार्य के मार्गदर्शन में भोलेनाथ से प्रार्थना की गई कि भविष्य में प्राकृतिक आपदाओं पर रोक लगे ताकि भारत, कोरोना जैसे वैश्विक महामारी के बाद दोबारा विकास की रफ्तार हासिल कर सके। अभिषेक अग्रवाल ने बताया कि सनातन रक्षा दल की ओर से इस क्रम में जनजागृति का व्यापक अभियान भी शुरू किया जा रहा है। इसमें लोगों को शाकाहार के लिए प्रेरित किया जाएगा वहीं सनातन धर्म के दैनिक सिद्धांतों को जीवन में उतारने के लिए प्रेरित किया जाएगा।