दिल्ली: 6 फरवरी से शुरू होगा फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण


दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में फ्रंटलाइन वर्कर्स को 6 फरवरी से कोरोना वायरस टीके लगाए जाएंगे लेकिन उससे पहले आज (गुरुवार, 4 फरवरी को) उसकी पायलट टेस्टिंग होगी. दिल्ली में करीब 3 लाख 40 हज़ार फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं जिन्हें कोरोना का टीका लगाया जाना है. दिल्ली की मौजूदा 183 वैक्सीनेशन सेंटर पर इन लोगों के टीकाकरण की प्रक्रिया 6 फरवरी से शुरू की जायेगी.

गुरुवार, 4 फरवरी को पायलट टेस्टिंग में सॉफ्टवेयर अपडेशन चेक किया जायेगा. इसके तहत चिन्हित वैक्सीनेशन साइट पर पहले से तय फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीनेशन के लिये बुलाया जाएगा. एक तरह से पायलट टेस्टिंग ड्राय रन की तरह ही होगा, लेकिन इसमें फ्रंटलाइन वर्कर्स को असल वैक्सीन ही लगाई जायेगी.
इस प्रक्रिया में पुलिस और सफाईकर्मियों समेत अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों को कोविड-19 टीके लगाए जाएंगे. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली में अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों की संख्या लगभग छह लाख है, जिनमें से 3.5 लाख कर्मियों ने टीका लगवाने के लिये पंजीकरण कराया है. उन्होंने कहा कि शेष कर्मियों का पंजीकरण किया जा रहा है.
अधिकारियों ने मंगलवार को कहा था कि दिल्ली में अब सप्ताह में चार दिन के बजाय छह दिन टीके लगाए जाएंगे. टीकाकरण केन्द्रों की संख्या को भी 106 से बढ़ाकर 183 कर दिया गया है. देश में अब तक 41.4 लाख लोगों को टीके लगाए जा चुके हैं.