40 के बाद महिलाएं क्यों चाहकर भी नहीं घटा पाती बेली फैट


महिला हो या पुरुष, बाहर निकली हुई तोंद भला किसे अच्छी लगती है। पुरुष तो जिम जाकर अपना वजन कम कर लेते हैं लेकिन जिम ना सकने की वजह से ज्यादा महिलाएं वजन नहीं कम कर पाती। वहीं, कुछ महिलाएं तो जिम जाने के बावजूद भी वेट लूज नहीं पाती। खासकर 40 की उम्र के बाद महिलाओं के लिए वजन घटाना एक अच्छी खासी समस्या बन जाता है।
40 के बाद वजन घटाना क्यों होता है मुश्किल?
1. दरअसल, 40 की उम्र के बाद महिलाओं के शरीर की मांसपेशियां कमजोर हो जाती है और मसल मास कम होने लगता है। इसके अलावा इस उम्र में मेटाबॉलिज्म भी धीमी हो जाता है, जिसके कारण कैलोरी बर्न करना मुश्किल हो जाता है।
2. इस उम्र वजन घटाने के बीच दूसरी बाधा है हार्मोन्स में बदलाव। पीरियड्स, शादी, प्रेगनेंसी, मेनोपॉज के सफर को पार करने के बाद महिलाओं के शरीर में कई हार्मोन्स परिवर्तन हो चुके होते हैं, जिसके कारण शरीर के कई हिस्सों में हार्ड फैट जमा हो जाता है। इसलिए उन्हें वजन घटाने में दिक्कत आती है।
3. टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन का स्तर कम होने की वजह से महिलाओं के शरीर में हार्ड फैट जमा हो जाता है जबकि इसके कारण पुरुषों में सॉफ्ट फैट बढ़ता है।
पेट की चर्बी घटाना क्यों जरूरी?
शरीर के अन्य हिस्सों के मुकाबले पेट की चर्बी ज्यादा हानिकारक होती है क्योंकि यहां जमा होने वाला विसरल फैट सांस की दिक्कत, दिल की रोग, टाइप-2 डायबिटीज, हाई बीवी और हाई कोलेस्ट्राल का कारण बन सकता है।
शादी के बाद बढ़ जाता है 82: महिलाओं का वजन
स्टडी के मुताबिक, शादी के 5 साल में ही करीब 82: महिलाओं का वजन 5 से 10ाह तक बढ़ जाता है। शरीर के कुछ खास अंग जैसे ब्रेस्ट, हिप्स और टमी में फैट जमा हो जाता है। बाहर का खान-पान, लाइफस्टाइल में बदलाव, हॉर्मोनल बदलाव, तनाव, बढ़ती उम्र, प्रेगनेंसी और पूरी नींद न लेना है।
प्रेगनेंसी के बाद भी बढ़ता है वजन लेकिन...
वहीं, शोध कहता है कि 10 में से 6 भारतीय महिलाएं प्रेगनेंसी के बाद मोटी हो जाती है लेकिन वह चाहकर भी वजन नहीं घटाती क्योंकि उन्हें लगता है कि अब इसकी जरूरत नहीं या उनका वजन कम ही नहीं होगा।
40 के बाद बेली फैट घटाने के टिप्स...
40 के बाद वजन या बैली फैट घटाना कोई मुश्किल टास्क नहीं है और ना ही इसके लिए आपको हार्ड वर्कआउट करने की जरूरत है। बस लाइफस्टाइल में छोटे से बदलाव आपको वापिस शेप में ला सकते हैं।
1. सबसे पहले को अपनी डाइट में सलाद, हरी पत्तेदार सब्जियां, 8-9 गिलास पानी, जूस, सूप, फल, साबुत अनाज, ओट्स, सुखे मेवे जैसी हैल्दी चीजें शामिल करें। साथ ही एक रूटीन बनाएं और उसे रोजाना फॉलो करें। 40 की उम्र के बाद आहार में प्रोटीन अधिक लें।
2. एक बार में भरपेट खाने की बजाए दिनभर में 5-6 छोटे-छोटे मील्स लें। भोजन अच्छी तरह चबाकर खाएं और रात में हल्का-फुल्का फाइबर युक्त भोजन करें, जो आसानी से डाइजेस्ट हो सके।
3. स्ट्रेस लेने से बचें क्योंकि यह सिर्फ मोटापा ही नहीं बल्कि कई बीमारियों को निमंत्रण देता है। इससे बचने के लिए योग व मेडिटेशन करें।
4. जिम नहीं जाना चाहती तो घर पर ही हल्की-फुल्की एक्सरसाइज जैसे जॉगिंग, वॉकिंग, फिजिकल एक्टिविटी, भोजन के बाद सैर आदि करें। साथ ही ज्यादा देर बैठने से बचें।
5. गैस बनाने वाली चीजें जैसे गोभी, खट्टी, तली, मसालेदार चीजें, कॉफी, चॉकलेट, कोल्डड्रिंक, सोडा, प्रोसेस्ड और रिफाइंड फूड, शराब-सिगरेट से दूरी बनाएं।

posted by -दीपिका पाठक