32वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह 2021 का हुआ समापन

बहराइच । सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों व गम्भीर रूप से घायल लोगों की संख्या में कमी लाये जाने, यातायात नियमों के पालन के साथ वाहनों का संचालन तथा वाहन का संचालन करते समय शत-प्रतिशत हेल्मेट व सीट बेल्ट का प्रयोग करने के प्रति आमजन में जनजागरूकता पैदा करने के उद्देश्य जनपद में 21 जनवरी से 20 फरवरी 2021 तक संचालित 32वाॅ राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह 2021 के समापन अवसर पर स्व. ठाकुर हुकुम सिंह किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय के डाॅ. जे.बी. सिंह सभागार में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि जिलाधिकारी शम्भु कुमार ने छात्र-छात्राओं का आहवान किया कि स्वयं तो यातायात नियमों का पालन करें और साथ ही दूसरे लोगों को भी प्रेरित करें। 

श्री कुमार ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के उद्देश्य से बीते माह जन जागरूकता के लिए विविध कार्यक्रम आयोजित किये गये परन्तु यातायात नियमों के पालन के लिए मात्र जिला प्रशासन का सहयोग काफी नहीं होगा। सभी लोग यातायात नियमों का पालन करें इसके लिए जन जागरूकता अत्यन्त आवश्यक है। इस कार्य के लिए छात्र-छात्राओं को सक्रिय सहयोग प्रदान करना होगा। जिलाधिकारी ने सभी छात्र-छात्राओं को सीख दी कि मोटर साईकिल अथवा चार पहिया वाहन का संचालन करते समय हेलमेट/सीट बेल्ट का प्रयोग करें, निर्धारित सीमा से अधिक गति से वाहन को कदापि न चलायें, स्टंट न करें, नशे की हालत में वाहन न चलायें, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करें। उन्होंने कहा कि छोटी-मोटी सावधानी से बेशकिमती जानों को बचाया जा सकता है। 

जिलाधिकारी ने कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को आगाह किया कि अभी पूरी तरह से कोरोना का खतरा टला नहीं है। इसलिए कोविड-19 के सुरक्षात्मक प्रोटोकाॅल का पालन करें, किसी भी स्तर पर लापरवाही बरतने से कोई भी व्यक्ति कोराना से प्रभावित हो सकता है। उन्होंने कहा कि देश के मा. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा भी लोगों से अपील की जा रही है कि कोविड-19 के सुरक्षात्मक प्रोटोकाॅल का पालन करें ताकि देश कोरोना के विरूद्ध निर्णायक जंग जीत सके।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डाॅ. विपिन कुमार मिश्रा ने कार्यक्रम के माध्यम से लोगों से अपील की धैर्य, संयम और विवेक के साथ वाहन चलायें तथा यातायात नियमों की कतई अनदेखी न करें। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि वाहन चलाते समय हेलमेट व सीट बेल्ट के प्रयोग के साथ-साथ सड़क की स्थिति तथा भौगोलिक परिस्थितियों को भी ध्यान में अवश्य रखें। एस.एस.पी. डाॅ. मिश्रा ने लोगों से अपील की कि 18 से कम आयु के बच्चों को किसी भी दशा में वाहन चलाने की अनुमति न दी जाय। 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए के.डी.सी. के प्राचार्य प्रो. विनय सक्सेना ने अतिथियों का स्वागत करते हुए छात्र-छात्राओं का आहवान किया कि स्वयं तो यातायात नियमों का पालन करें साथ ही दूसरों को भी प्रेरित करें। पूर्व प्राचार्य मेजर डाॅ. एस.पी. सिंह ने कहा कि बेशकिमती जानों की हिफाज़त के लिए युवक-युवतियों को सड़क सुरक्षा व यातायात नियमों के प्रति सजग व जागरूक होना बहुत ज़रूरी है। ए.आर.टी.ओ. प्रशासन वीरेन्द्र सिंह ने 32वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह 2021 के दौरान संचालित की गयी गतिविधियों पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डालते हुए कहा कि जनजागरूकता कार्यक्रम के माध्यम से लोगों के व्यवहार परिवर्तन पर विशेष ज़ोर दिया गया है।

समापन समारोह के अवसर पर राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह 2021 के दौरान संचालित की गयी प्रश्नोत्तरी, चित्रकला, लेखन इत्यादि प्रतियोगिताओं एवं अन्य गतिविधियों में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को डीएम व एस.एस.पी. द्वारा चेक व प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन खण्ड शिक्षा अधिकारी पयागपुर उपेन्द्र त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर ए.सी.एम.ओ. डाॅ. राजेश कुमार गौतम, ए.आर.टी.ओ. प्रवर्तन अशोक कुमार व अन्य अधिकारी, शिक्षक तथा बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।