प्रदेश में अब तक कुल 2,85,78,777 सैम्पल की जांच की गयी


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,25,670 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,85,78,777 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 145 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 4,438 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4,369 लोगों ने तथा अब तक कुल 4,84,784 लोगांे ने चिकित्सीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में विगत 24 घण्टों में 164 तथा अब तक कुल 5,88,148 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में रिकवरी रेट 97.82 प्रतिशत है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,84,833 क्षेत्रों में 5,10,722 टीम दिवस के माध्यम से 3,14,33,786 घरों के 15,26,66,776 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। श्री प्रसाद ने बताया कि कल प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया गया था स्वास्थ्य कर्मियों के साथ-साथ फ्रंट लाइन कर्मियों के भी टीकाकरण का कार्य किया गया था। स्वास्थ्य कर्मियों के कोविड वैक्सीनेशन का प्रथम चरण कल पूरा हो गया। जिन स्वास्थ्य कर्मियों का किसी कारणवश कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण नहीं हो पाया है उनको एक बार और 15 फरवरी को कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कल स्वास्थ्य कर्मियों तथा फ्रंट लाइन कर्मचारियों को कुल 84,109 कोविड वैक्सीनेशन का टीकाकरण किया गया, जिसमें से 47,714 स्वास्थ्य कर्मी 36,395 फ्रंट लाइन कर्मचारी थे। अब तक कुल प्रदेश में 6,73,210 से अधिक स्वास्थ्य कर्मी व फ्रंट लाइन कर्मियों को कोविड वैक्सीन की प्रथम डोज लगायी जा चुकी है, जो किसी भी राज्य की तुलना में देश में सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि फ्रंट लाइन कर्मचारियों को 11, 12 और 18 फरवरी को कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। किसी प्रकार का कोविड लक्षण आने पर तत्काल जांच कराएं। सरकार की ओर से जांच और ईलाज निःशुल्क है। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि स्कूल-काॅलेज खुल रहे हैं इसलिए कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।