उत्तर प्रदेश के लापता 21 व्यक्ति सकुशल मिलें: सुरेश राणा

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश गन्ना विकास, चीनी मिलें एवं औद्योगिक विकास मंत्री श्री सुरेश राणा ने कहा है कि उत्तराखण्ड राज्य के चमोली जनपद जोशीमठ में ग्लेशियर टूट जाने से हुई तबाही से निपटने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह से उत्तराखण्ड सरकार के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने निर्णय लिया है कि उत्तराखड त्रास्दी में मरने वाले उत्तर प्रदेश के नागरिकों के अंतिम संस्कार में होने वाले खर्च को राज्य सरकार वहन करेंगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के नागरिकों केे लापता, हताहत एवं फंसे होने की सूचनाओं को त्वरित आदान-प्रदान करने के लिए आपदा नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गयी है। उन्होंने कहा कि यह नियंत्रण कक्ष 24 घंटे निरंतर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लापता 21 नागरिकों को सकुशल बरामद कर लिया गया है। दो व्यक्तियों के शव प्राप्त हुए है।

सुरेश राणा आज यहां आपदा नियंत्रण कक्ष भीमागौडा, जनपद हरिद्वार में प्रेस प्रतिनिधियों के साथ वार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर उत्तराखण्ड राज्य सरकार से समन्वय स्थापित करने के लिए आपदा नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। इस आपदा नियंत्रण कक्ष के द्वारा लापता, हताहत एवं फंसे होने वाले लोगों के सम्बन्ध में उनके परिजनों को आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि आपदा की स्थिति से उत्तराखण्ड राज्य सरकार के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करने के लिए मण्डलायुक्त सहारनपुर ए0वी0राजमौलि व पुलिस उप महानिरीक्षक उपेन्द्र अग्रवाल को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशानुसार राज्य सरकार स्तर पर उनके नेतृत्व में तीन मंत्रियों की टीम भी निरंतर उत्तराखण्ड राज्य में प्रवास कर स्थिति पर नजर रखे हुए है।

गन्ना विकास, चीनी मिलें मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के अधिकारी उत्तराखण्ड राज्य के साथ सहयोग कर रहे है। आपदा के सम्बन्ध में पल-पल की जानकारी उपलब्ध करा रहे है। आपदा क्षेत्र में सरकार का पूर्ण सहयोग कर रहे है। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी व अलीगढ़ के निवासी दो लोगों के शव बरामद हुए है। उन्होंने कहा कि आपदा में मृत उत्तर प्रदेश के लोगों के शवों को अधिकारियों की देख-रेख में उनके गृह जनपद को भेजा गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी घटना पर पूरी तरह से सजग है। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी और माननीय गृहमंत्री जी उत्तराखण्ड आपदा के राहत कार्यों पर लगातार नजर बनाये हुए है।

उन्होंने कहा कि लापता लोगों की खोज के लिए एन.डी.आर.एफ. और आई.टी.बी.पी. की टीमें लगाई गयी है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार, उत्तराखण्ड सरकार तथा केन्द्र सरकार संयुक्त रूप से इस आपदा में राहत पहुंचाने का काम कर रही है। सुरेश राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए है कि उत्तराखण्ड आपदा में घायलों का समुचित ईलाज और मतृकों के अंतिम संस्कार पर होने वाले खर्च का वहन राज्य सरकार करेंगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिए है कि आपदा से प्रभावित व्यक्तियों कों खाद्य पदार्थों की उपलब्धता सुनिशिचत करायें। इस अवसर पर आयुष, अभाव, सहायता एवं पुनर्वास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा.ॅ धर्म सिंह सैनी तथ बाढ़ नियंत्रण एवं राजस्व  राज्य मंत्री विजय कश्यप सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।