पश्चिम बंगाल में लेफ्ट फ्रंट ने 12 घंटे का बुलाया बंद

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में लेफ्ट फ्रंट ने आज 12 घंटे का बंद बुलाया है. यह बंद पुलिस कार्रवाई के खिलाफ बुलाया गया है. राज्य के कई जिलों में बंद का असर देखने को मिल रहा है. दरअसल वाम मोर्चा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मध्य कोलकाता के एस्प्लेनेड क्षेत्र में बीते दिन पुलिस (Police) के साथ झड़प हुई थी. आरोप है कि कार्यकर्ताओं ने रोजगार की मांग को लेकर राज्य के सचिवालय नबान्न तक के अपने मार्च के रास्ते में लगे बैरिकेड को तोड़ने की कोशिश की थी. इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू-गैस के गोले भी छोड़े.

सिलिगुड़ी में बंद का असर दिख रहा है. उत्तर 24 परगना में लेफ्ट कार्यकर्ताओं ने कंचरापारा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोककर विरोध जताया. बीते दिन पुलिस की कार्रवाई में कई कार्यकर्ताओं के साथ ही पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं. माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने पश्चिम बंगाल की सरकार पर वाम कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त रुख अपनाने का आरोप लगाया. येचुरी ने ट्विटर पर एक तस्वीर साझा की, जिसमें एक महिला और पुरुष, पुलिस द्वारा किए जा रहे लाठीचार्ज से बचने का प्रयास करते दिखे.

उन्होंने कहा, ‘‘बंगाल के युवा का इरादा पक्का है. सख्ती से निपटने की रणनीति उन्हें पीछे नहीं धकेल सकती. यह तस्वीर हजारों शब्द कह रही है. विरोध और तेज होगा.'' वाम मोर्चा के अध्यक्ष बिमान बोस ने पुलिसिया कार्रवाई के विरोध में शुक्रवार सुबह 6 बजे से 12 घंटे के पश्चिम बंगाल बंद की घोषणा की थी. बिमान बोस ने दावा किया कि पुलिस की कार्रवाई में नौकरियों और बेहतर शिक्षा सुविधाओं की मांग को लेकर ''नबान्न अभियान'' में शामिल वाममोर्चा और कांग्रेस के 150 से अधिक छात्र, युवक एवं युवतियां घायल हुए.

बताते चलें कि अगले कुछ हफ्तों बाद पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. BJP ने चुनाव में 200 सीटें जीतने को लेकर अभियान चलाया हुआ है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा लगातार राज्य का दौरा कर रहे हैं. वहीं चुनाव से पहले दल-बदल का खेल भी जारी है. TMC के कई दिग्गज नेता पाला बदलते हुए बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. ममता सरकार में मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी समेत कई नेताओं ने हाल ही में TMC छोड़ बीजेपी का दामन थामा था. वहीं TMC अध्यक्ष ममता बनर्जी ने दावा किया कि आगामी चुनाव में वह भारी बहुमत से एक बार फिर सरकार बनाएंगी.