वैक्सीनेशन कार्य की नियमित मॉनिटरिंग की जाए: मुख्यमंत्री


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोविड वैक्सीनेशन अभियान के तहत 04 व 05 फरवरी, 2021 को हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण कार्य पूरी सक्रियता से संचालित करते हुए प्रदेश में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण कार्य पूर्ण किया जाए। उन्होंने कोरोना फ्रंटलाइन कर्मियों के वैक्सीनेशन कार्य को भी आगामी 05 फरवरी से प्रारम्भ किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने वैक्सीनेशन कार्य की नियमित मॉनिटरिंग किए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि कोविड वैक्सीनेशन की समस्त कार्यवाही भारत सरकार के दिशा-निर्देशों, मानकों तथा क्रम के अनुसार संचालित की जाए। बैठक में अवगत कराया गया कि कोविड वैक्सीनेशन अभियान के अन्तर्गत 04 लाख 63 हजार से अधिक हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेट किया जा चुका है। प्रदेश में कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या लगभग 08 लाख है। मुख्यमंत्री ने लोगों से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन करने की अपील करते हुए कहा कि कोविड-19 की संक्रमण दर में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज होने के बावजूद कोरोना का खतरा अभी समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी बरतना आवश्यक है। उन्होंने जनता को कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम प्रभावी ढंग से कार्यशील रहें। कोविड चिकित्सालयों में उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनी रहे। उन्होंने कोविड अस्पतालों में दवाओं, मेडिकल उपकरणों तथा बैकअप सहित ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कल 31 जनवरी, 2021 को प्रदेश में पल्स पोलियो अभियान संचालित किया जाएगा। उन्होंने इसके दृष्टिगत सभी तैयारियां समय से पूरी करते हुए अभियान को सफलतापूर्वक सम्पन्न किए जाने के निर्देश दिए हैं। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव राजस्व  रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास  आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार, सचिव मुख्य मंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।