साइड-इफैक्ट हो तो समझ लें असर कर रही है वैक्सीन


देशभर के कई शहरों में कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू कर दिया गया है। वहीं, कुछ वैक्सीन के साइड-इफैक्ट भी सामने आ रहे हैं जैसे हल्का बुखार, सिरदर्द, बॉडी पेन आदि। मगर, कोरोना वैक्सीन के इन साइड-इफैक्ट को लेकर वैज्ञानिकों ने एक चौकाने वाला खुलासा किया है।

एक हफ्ते में असर दिखाती है वैक्सीन
दरअसल, वैज्ञानिकों का कहना कि वैक्सीन की पहली खुराक से संक्रमण हो तो इसका मतलब यह नहीं टीका बेअसर है। टीक लगने के बाद हल्की-फुल्की दिक्कतें हो रही हैं तो समझ लें कि शरीर पर टीके असर कर रहा है। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं।
वैक्सीन के बाद इंफेक्शन होना बड़ी बात नहीं
वहीं, अमेरिका, ब्राउन यूनिवर्सिटी की इमरजेंसी फिजिशियन का कहना है कि एक डोज लेने के बाद इंफेक्शन होना कोई बड़ी बात नहीं है क्योंकि इसका असर होने में एक हफ्ता या उससे ज्यादा समय लग सकता है। कोई भी वैक्सीन अपना असर दिखाने में थोड़ा-बहुत समय लेती है।
टीका लगते ही स्पाइक प्रोटीन बनना शुरू
अभी तक सामने आई वैक्सीन त्छ। या डत्छ तकनीक द्वारा बनाई गई है, जो कोशिकाओं में पहुंचने के बाद सुरक्षा कवच के रूप में स्पाइक प्रोटीन को बनाने में मदद करती है। यही स्पाइक आगे चलकर वायरस वाले प्रोटीन को निष्क्रिय करने का काम करता है। वैक्सीन लगने के बाद इम्यून सेल्स प्रोटीन को समझाते हैं, जिससे वो परिपक्व बनाकर शरीर में उनकी संख्या बढ़ाती है और वायरस से बचाव करती है।
संक्रमण कब हुआ यह जानना जरूरी
संक्रमण टीका लगने के बाद हुआ है या पहले यह जानना सबसे जरूरी है। कोई भी वैक्सीन 100% असरदार नहीं होती लेकिन 2 डोज के बाद शरीर पूरी तरह सुरक्षित होता है। हालांकि कुछ लोगों को कई कारणों से टीका लगने के बाद भी संक्रमण हो जाया है। मगर, इसका मतलब यह नहीं कि वैक्सीन फेल हो गई।