अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने का निर्णय


लखनऊः उत्तर प्रदेश सरकार ने अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के माध्यम से प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने का फैसला लिया है। जन विकास कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षण सुविधाओं का सृजन, आईटीआई भवनों का निर्माण, पेयजल परियोजनाओं की स्थापना, नवीन परियोजनाओं के क्रियान्वयन के साथ ही यूनानी मेडिकल कॉलेज की स्थापना के कार्य कराये जाने की व्यवस्था की गयी है।

अल्पसंख्यक कल्याण विभाग से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में 47 इंटर कॉलेजों का निर्माण कार्य कराया जा चुका है। इन सभी कॉलेजों में फर्नीचर इत्यादि की व्यवस्था की कार्यवाही की जा रही है। इसी प्रकार कौशल विकास हेतु 13 नवीन आईटीआई भवनों का निर्माण कराया गया। इनके अतिरिक्त 12 आईटीआई का संचालन भी प्रारंभ कर दिया गया है।

अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अनुसार 64 पेयजल परियोजनाओं की स्थापना करके पेयजल सुविधाओं का सृजन किया गया। मार्च 2017 से नवंबर 2020 तक की अवधि में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा 1950 करोड़ रुपए की नवीन परियोजनाएं स्वीकृत कराकर उन पर कार्य प्रारंभ किया गया।

राज्य सरकार ने अल्पसंख्यक कल्याण कार्यक्रमों को गति देने के लिए तीन राजकीय पॉलिटेक्निक, 52 राजकीय इंटर कॉलेज, 9 जूनियर हाई स्कूल, 20 अपर प्राइमरी स्कूल, 136 प्राइमरी स्कूल, 18 राजकीय आई0टी0आई0 की मंजूरी प्रदान की है। इसके अलावा 01 राजकीय नर्सिंग कॉलेज, 09 राजकीय डिग्री कॉलेज, 2433 स्मार्ट क्लास, 02 इंटर कॉलेजों में परीक्षा हॉल, 09 छात्रावास, 31 सद्भाव मंडप, 160 आंगनवाड़ी केंद्र, 02 वर्किंग विमेन हॉस्टल, 01 मार्केटिंग शेड, 3 साइंस लैब, 187 पाइप पेयजल योजना, 747 पोर्टेबल वॉटर सप्लाई, 01 सीवर योजना, 47 टॉयलेट ब्लॉक, 27 कॉमन सर्विसेज सेंटर तथा 01 यूनानी मेडिकल कॉलेज सहित कुल लगभग 3400 नई इकाइयों की स्थापना के कार्य स्वीकृत किए जा चुके हैं। इन नवीन परियोजनाओं को मूर्त रूप देने के लिए 769 करोड़ रुपए के प्रस्ताव भारत सरकार को उपलब्ध कराए जाने की कार्यवाही अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग द्वारा की जा रही है ।