योगी ने मुरादाबाद सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद मुरादाबाद में एक सड़क दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के समुचित उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मुरादाबाद में शनिवार की सुबह चीख और चीत्कार के बीच शुरू हुई। मुरादाबाद-आगरा हाईवे पर करीब 8.30 बजे मिनी बस और ट्रक की टक्कर में 10 लोगों की मौत हो गई। वहीं दूसरी ओर 25 यात्री घायल हुए हैं। इनमें पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है। मृतकों में एक फर्रुखाबाद का रहने वाला है। शेष की पहचान मुरादाबाद के कुंदरकी, बिलारी व कटघर थाना क्षेत्र के रहने वालों के रूप में हुई है। घटनास्थल से लेकर पोस्टमार्टम हाउस तक अफरातफरी का माहौल रहा। शनिवार सुबह करीब आठ बजे यात्रियों से भरी एक निजी बस बिलारी से मुरादाबाद के लिए रवाना हुई। तब बस में करीब 25 यात्री सवार थे। कोहरे के बीच बस महानगर की सीमा के समीप कुंदरकी थाना क्षेत्र में नानपुर गांव के पास पहुंची थी। बस के आगे एक डीसीएम चल रहा था। डीसीएम को बस चालक ने ओवरटेक करने की कोशिश की। इस दौरान सामने से खाद लदा एक ट्रक आ गया। इससे ट्रक,बस और डीसीएम तीनों वाहनों की टक्कर हो गई। वाहनों के बीच टक्कर होते ही चीख-पुकार मच गई। राहगीरों ने हादसे की सूचना कुंदरकी पुलिस को दी। बस में सवार घायलों को बाहर निकालने का दौर शुरू हुआ। बस चालक समेत चार लोगो की मौके पर मौत हो चुकी थी। अन्य घायलों को निजी वाहन और एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया। इनमें से छह को देखते ही चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। 10 घायलों का इलाज अभी भी जिला अस्पताल में जारी है। हादसे की सूचना मिलते ही डीएम राकेश सिंह के साथ एसएसपी प्रभाकर चैधरी दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने तत्काल जिला अस्पताल के चिकित्सकों से संपर्क किया। अफरातफरी के माहोल में घायलों का उपचार शुरू हुआ।उधर पोस्टमार्टम हाउस पर पूरे दिन लोगों की भीड़ जमा रही। शव की शिनाख्त का क्रम जारी रहा। पंचनामा और पोस्टमार्टम के लिए दारोगा और चिकित्सकों की टीम बनाई गई है।