हमले के आरोपी हिस्ट्रीशीटर की बहन और भाई गिरफ्तार


बांदा। झगड़े की सूचना पर रविवार की शाम को पहुंची यूपी-112 पुलिस पर हमला करने के आरोपी हिस्ट्रीशीटर के भाई और बहन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस दौरान आरोपी हिस्ट्रीशीटर भाग निकला। हमले में तीन पुलिस कर्मियों को चोटें आईं थी और पुलिस का वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया था। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर आरोपी सात लोगों के विरुद्ध संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज हुई है। थाना क्षेत्र के लंकापुरी (जौहरपुर) में हिस्ट्रीशीटर मकरध्वज सिंह रविवार की शाम शराब के नशे में हंगामा कर रहा था। ग्रामीणों की सूचना पर बाइक से पहुंचे चैकी प्रभारी रोशन गुप्ता और यूपी-112 के सिपाहियों ने उसे दबोच लिया। पुलिस के मुताबिक, उसे छुड़ाने के लिए पिता मुलायम सिंह, बहन सविता, भाई सोनू सिंह, अजयपाल सिंह, राजा सिंह, सुखबीर सिंह व चचेरे भाई पंचम सिंह उर्फ सोनू पुत्र बल्देव सिंह ने पुलिस टीम पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को छुड़ा लिया था। पुलिस और हिस्ट्रीशीटर के परिवार के बीच जमकर मारपीट भी हुई। पुलिस की बाइक भी क्षतिग्रस्त कर दी। सिपाही सुरेश कुमार, राजेंद्र कुमार व सुनील यादव घायल हो गए। हमले के दौरान पुलिस कर्मी अपनी बाइकें छोड़कर भाग निकले। चैकी प्रभारी रोशन गुप्ता ने तिंदवारी थाने में सूचना दी। सीओ अजय सिंह भदौरिया, प्रभारी निरीक्षक जाकिर हुसैन, एसएसआई नौशाद खां, कुरसेजा चैकी प्रभारी हरिशरण सिंह पहुंचे, लेकिन हिस्ट्रीशीटर भाग निकला। पुलिस ने उसकी बहन सविता और भाई अजयपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर ने बताया कि बेंदा चैकी प्रभारी की तहरीर पर हिस्ट्रीशीटर मकरध्वज सिंह समेत उसके पिता, बहन, तीन भाई व चचेरे भाई के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। मकरध्वज सिंह पर थाने में 19 आपराधिक केस दर्ज हैं।