सफाई न होने से सड़कों और नालियों में भरा रहता पानी


उरई/जालौन। डकोर ब्लाक के कई गांवों में सड़के व नालियां न होने से गांव के लोगों को घरों से निकलने वाला गंदा पानी रास्तों में भरा पड़ा है। इससे गांव के लोगों को इसी गंदगी से होकर निकलना पड़ रहा है। गांव में सफाईकर्मी न होने से सफाई व्यवस्था भी ध्वस्त पड़ी है। ग्रामीणों ने सफाई कर्मियों की तैनाती कर सफाई कराने की मांग की है। डकोर ब्लाक के ऐर, कुसमिलिया, मुहम्मदाबाद में कई रास्ते ऐसे हैं जिनमें न तो नालियों का निर्माण कराया गया है और न ही खंड़जा बिछवाया गया है।

 गांव के लोगों के घरों से निकलने वाला गंदा पानी आम रास्ते पर भरा रहता है। इससे कीचड़, गंदगी व जलभराव रहता है। गांवों के बाशिंदों को इन्हीं रास्तों से होकर गुजरने की मजबूरी बनी हुई है। इन रास्तों से गुजरने में महिलाओं, बुजुर्गों व बच्चों को परेशान होना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि रास्तों में गंदगी होने से लोग घरों के दरवाजों व चबूतरों पर बैठ नहीं पाते है। गंदगी की दुर्गंध से लोगों का जीना मुश्किल हो रहा है। मच्छर व अन्य कीटाणु बढ़ रहे हैें। गांव के लोगों ने बताया कि सफाई कर्मियों के सफाई न करने से रास्तों पर पानी भरा रहता है। कई रास्ते गुजरने लायक जगह नहीं है। लोग गंदगी के बीच से गुजरने को मजबूर है।