पुल की मांग को लेकर विधायक से मिले ग्रामीण


सीतापुर । सेवता विधानसभा में ब्लाक रेउसा व बिसवां के करीब पुल न होने के कारण क्षेत्र के हजारों बाशिंदों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। गांवों के बाशिंदों को पुल न होने कि वजह से कई किलोमीटर का फेर लगाकर जाना होता हैं। शुक्रवार को क्षेत्र के विधायक ज्ञान तिवारी भ्रमण पर निकले। इसी बीच ग्रामीणों ने विधायक से मुलाकात की और अपनी यह पीड़ा बताई। इस पर विधायक ज्ञान तिवारी ने कहा कि विधायक बनते ही उन्होंने अपने विधानसभा के पांच पुलों को बनाने की मांग मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री से की थी। यह बहुत महत्वपूर्ण पुल है, ग्राम रई वसुदहा से सरैंया छतौना को आपस में जोड़ने वाला यह पुल बन जाने से कृषि क्षेत्र की एक बहुत बड़ी समस्या का समाधान हो सकेगा। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग से इस पुल का आगणन बनवा कर शासन को भिजवाया था। करोना कॉल की वजह से इस पुल के निर्माण में बाधा आई है, पुनः उन्होंने बीते सोमवार को मुख्यमंत्री के विशेष सचिव श्रुभांत कुमार शुक्ला से मिलकर इस पुल के निर्माण को लेकर उन्हें पत्र सौंपा है। उम्मीद है जल्द ही यह पुल स्वीकृत हो सकेगा। विधायक ने कहा इस पुल के न बनने से हमारे क्षेत्र के एक सैकड़ा से अधिक गांवों के लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। लोग 20 किलोमीटर दूर घूमकर जाते हैं। यही नहीं लोगों को शैक्षिक, आर्थिक, सामाजिक स्वास्थ्य आदि समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। चैका नदी पर पुल बन जाने से एक बहुत बड़ी समस्या हमारे क्षेत्र की समाप्त हो जाएगी। उन्होंने कहा इस पुल के साथ ही शेष अन्य चार पुलों के निर्माण को लेकर वह अगले सप्ताह मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री से मिलेंगे और जनहित व विकास हित में इन पुलों को स्वीकृत कराने की मांग रखेंगे।