गणतंत्र दिवस परेड में सीएमएस को सर्वाधिक सात पुरस्कार


लखनऊ। गणतन्त्र दिवस परेड में सिटी मोन्टेसरी स्कूल की झाँकी समेत विभिन्न कैम्पस की छात्र टीमों को शानदार प्रदर्शन हेतु सात पुरस्कारों से नवाजा गया है। सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) की छात्र टीम को  सर्वश्रेष्ठ मार्च पास्ट हेतु प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया है जबकि सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) की छात्र टीम को ‘तिरंगा झुकने न देंगे’ ड्रिल के लिए प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया है। इसी प्रकार, सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) को फ्लैग मार्च हेतु द्वितीय पुरस्कार, सी.एम.एस. इन्दिरा नगर कैम्पस को साँस्कृतिक कार्यक्रम ‘स्वच्छ जल स्वस्थ कल’ के लिए द्वितीय पुरस्कार, सी.एम.एस. स्टेशन रोड कैम्पस को ‘कोरोना योद्धा’ ड्रिल के लिए  द्वितीय पुरस्कार एवं सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस को बैग पाइप बैण्ड हेतु तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया है। इसके अलावा, सी.एम.एस. की झाँकी ‘चलों दुनिया को स्वर्ग बनायें हम, प्रेम से और प्यार से’ को तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया है। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि गणतन्त्र दिवस परेड में सी.एम.एस. की झाँकी को जनमानस द्वारा खूब सराहा गया। इस झाँकी में भावी पीढ़ी को प्रेम, प्यार, सहयोग एवं सौहार्द की शिक्षा प्रदान कर इस दुनिया को स्वर्ग बनाने का आह्वान किया गया है। श्री शर्मा ने बताया कि गणतन्त्र दिवस परेड में प्रदर्शन के उपरान्त सी.एम.एस. झाँकी इन दिनों सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस के प्रांगण में सभी के अवलोकनार्थ रखी गई है। सी.एम.एस. का लक्ष्य प्रत्येक छात्र का नैतिक, चारित्रिक व आध्यात्मिक उत्थान कर उन्हें समाज का आदर्श नागरिक बनाना है एवं यह झाँकी दर्शन भी इसी प्रयास की एक कड़ी है। अधिकांश नन्हें-मुन्हें बच्चे गणतन्त्र दिवस परेड में झाँकी को नहीं देख पाते हैं उनके लिए यह एक अभूतपूर्व अवसर है कि झाँकी को नजदीक से देखकर इसके विचारों को ग्रहण करें। श्री शर्मा ने सभी लखनऊवासियों एवं सभी स्कूलों से अपील की है कि वे सी.एम.एस. कानपुर रोड पधारकर इस झाँकी को निकट से देखें, इसकी विशेषताओं को समझें तथा बच्चों को भी समझाएं, जिससे छात्रों का सर्वांगीण विकास हो सके।