बिहार से 3.36 लाख अभ्यर्थी होंगे सीटीईटी में शामिल


केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) द्वारा ली जाने वाली राष्ट्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में तीन लाख 36 हजार तीन सौ परीक्षार्थी शामिल होंगे। सीटीईटी दिसंबर 2019 से 50 हजार अधिक अभ्यर्थी शामिल होंगे। कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश भर में कई शहरों में केंद्र बनाये गये हैं। इस बार बेगूसराय, गोपालगंज, पूर्णिया, रोहतास, सहरसा, सारण शहरों में भी सीटीईटी के लिए केंद्र बनाये गये हैं। इससे पहले पटना, मुजफ्फरपुर, भागलगपुर, गया में ही परीक्षा केंद्र रहता था। इन सभी जिलों में कुल 345 परीक्षा केंद्र बनाये जायेंगे। 

पटना जिला की मानें तो कुल 84 परीक्षा केंद्र पर सीटीईटी आयोजित की जायेगी। पटना जिला में कुल एक लाख परीक्षार्थी सीटीईटी में शामिल होंगे। हर केंद्र को परीक्षा के पहले सेनेटाइज किया जायेगा। पटना जिला के सभी केंद्रों को दो ग्रुप में बांट दिया गया है। एक ग्रुप की सिटी कोऑर्डिनेटर ग्लेंडा गॉल्स्ट्रॉन ने बताया कि कोरोना संक्रमण से अभ्यर्थी का बचाव किया जाय, इसके लिए हर केंद्र को सेनेटाइज किया जायेगा। परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थी की जांच संबंधित गाइडलाइन सभी केंद्राधीक्षक को भेजी गयी है। ज्ञात हो कि सीटीईटी देश भर में 31 जनवरी को ली जायेगी। ज्ञात हो कि जून 2020 में ली जाने वाली सीटीईटी को कोरोना संक्रमण के कारण स्थगित कर दिया गया था।

कोरोना के कारण प्रदेश के 20 हजार छात्रों ने परीक्षा केंद्र अपने गृह जिला में लिया है। सीबीएसई द्वारा सभी अभ्यर्थियों को इसका मौका दिया गया था। अभ्यर्थी चाहे तो अपना परीक्षा केंद्र बदल सकते हैं। इसके लिए बोर्ड द्वारा अभ्यर्थियों को आवेदन करने का मौका दिया गया था। प्रदेश भर से 20 हजार 432 छात्रों ने अपना परीक्षा केंद्र पटना, मुजफ्फरपुर, भागलपुर से बदल कर अपने गृह जिला में किया है।