जेईई मेन में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को जेईई एडवांस्ड परीक्षा में बैठने का मिलेगा मौका


साल 2020 मार्च में आई कोरोना महामारी ने बोर्ड परीक्षा से लेकर जेईई मेन परीक्षा और नीट परीक्षा को भी प्रभावित किया। बोर्ड परीक्षाएं टाली गईं, लेकिन इंजीनियरिंग के दाख़िले के लिए होने वाली ज्वाइंट एंट्रेंस एग्ज़ाम (जेईई) मेन परीक्षा और देश के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए होने वाली नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (एनईईटी) यूजी या नीट की परीक्षा को कोरोना महामारी के बीच आयोजित किया गया।  NIT, IIIT और अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों आदि में बीटेक, बीई कोर्सेज में प्रवेश के लिए जेईई मेन एग्जाम आयोजित होता है। जेईई मेन में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को जेईई एडवांस्ड परीक्षा में बैठने का मौका मिलेगा। जेईई एडवांस्ड परीक्षा के जरिए देश के प्रतिष्ठित 23 आईआईटी संस्थानों में एंट्री मिलती है।  इसके साथ ही साल 2021 के लिए जेईई मेन परीक्षा में कुछ बड़े बदलाव भी किए गए हैं। आइए जानते हैं इन बदलावों के बारे में जेईई मेन परीक्षा तिथि 2021 के लिए 16 दिसंबर, 2020 से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुके हैं। जेईई मेन परीक्षा को अगले साल 2021 में फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई में आयोजित की जाएगी। ऐसा पहली बार हो रही है कि साल में चार बार यह परीक्षा आयोजित की जा रही है। पहले सत्र की परीक्षा का आयोजन 23 से 26 फरवरी 2021 तक होगा।

जेईई मेन परीक्षा में आवेदन करते समय उम्मीदवारों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि अपने पसंद के चार शहरों को सेलेक्ट करना होगाय़ उम्मीदवार जो जेईई मेन परीक्षा के कई सेशन के लिए आवेदन करेंगे, वे करेक्शन विंडो के जरिए अपनी पसंद का शहर ले सकेंगे, जो पब्लिक नोटिस के बाद खोली जाएगी।

इस बार अभ्यर्थियों को 90 में से 75 प्रश्न हल करने होंगे। 15 वैकल्पिक (ऑप्शनल) प्रश्न होंगे। वैकल्पिक प्रश्नों में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।  इस बार जेईई मेन परीक्षा नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखते हुए कई क्षेत्रीय भाषाओं में भी आयोजित की जा रही है, जैसे असमी, बंगाली, कन्नड़, मलयालम, मराठी और उडिया।

एनटीए ने सुनिश्चित किया है कि कितने प्रश्न कम किए जाएं तो सभी बोर्डों का सिलेबस उसमें कवर हो जाए। जिसका सिलेबस कम किया गया है और जिसका सिलेबस कम नहीं किया गया, सभी बच्चे जेईई मेन का पूरा पेपर अटेम्प्ट कर सकें, ऐसे जेईई मेन  एग्जाम का पैटर्न सेट किया गया है।

इस बार UPSEE (2021) का आयोजन नहीं होगा। ऐसे में यूपी के डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू), लखनऊ राज्य के 750 कॉलेजों में 1.40 लाख सीटों पर जेईई मेन 2021 के स्कोर के आधार पर स्टूडेंट्स को दाखिला देगी। एकेटीयू से जुड़े उत्तर प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में अभी तक यूपीएसईई से दाखिले होते रहे हैं। लेकिन अब जेईई मेन से होंगे। 

जेईई परीक्षा 2021 के चारों सत्र की परीक्षा तिथियां- 


फरवरी सत्र - 23,24,25, 26 फरवरी 2021

मार्च सत्र - 15,16,17, 18 मार्च 2021

अप्रैल सत्र - 27,28,29, 30 अप्रैल 2021

मई सत्र - 24,25,26 27, 28 मई 2021