असदुद्दीन ओवैसी : भारत के संविधान में लव जिहाद की कोई परिभाषा नहीं है


नई दिल्ली: देश में लव जिहाद को लेकर एक नई बहस छिड़ी है. उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार इसपर कानून ला चुकी है. बीजेपी शासित कई अन्य राज्य भी कानून लाने की तैयारी कर रहे हैं. लव जिहाद के मुद्दे पर विपक्षी दल लगातार भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर हमला बोल रहे हैं. AIMIM पार्टी के मुखिया और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि भारत के संविधान में लव जिहाद की कोई परिभाषा नहीं है. बीजेपी शासित राज्य संविधान का मजाक उड़ा रहे हैं.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, 'भारत के संविधान में कहीं भी लव जिहाद की परिभाषा नहीं है. बीजेपी शासित राज्य लव जिहाद पर कानून लाकर संविधान का मजाक उड़ा रहे हैं. अगर बीजेपी शासित राज्य कानून बनाना ही चाहते हैं तो वे MSP पर कानून बनाएं, रोजगार देने पर कानून बनाएं.'

उन्होंने आगे कहा, 'न्यायालयों ने दोहराया है कि भारत के संविधान के तहत, अनुच्छेद 21, 14 और 25 के तहत, किसी भी भारतीय नागरिक के निजी जीवन में किसी भी सरकार की कोई भूमिका नहीं है. बीजेपी स्पष्ट रूप से संविधान के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करने में लिप्त है.'

ओवैसी ने कहा, 'मैंने हमेशा मुस्लिम समुदाय के सामाजिक और शैक्षिक पिछड़ेपन का मुद्दा उठाया है. साथ ही यह भी दिखाने की कोशिश की है कि कैसे मुस्लिम समुदाय को राजनीतिक रूप से हाशिए पर रखा गया. इन मुद्दों पर मेरे साथ जुड़ने की जगह जिन्ना का जिन्न दिखाकर लोगों को डराना अधिक सुविधाजनक है.'