'गिरवी '


जो उठाएं किसी समस्या

के लिए ' आवाज '
तो देशद्रोही कहलाते हैं हम,
वोट देकर क्या अपनी आवाज ही
गिरवी रख दी है हमनें
सरकार के पास?

जो मांगे ' न्याय ' शोषण
से पीड़ित के लिए
तो षड़यंत्रकारी कहलाते हैं हम,
वोट देकर क्या अपना न्याय ही
गिरवी रख दिया है हमनें
सरकार के पास?

जो ' भूख ' से पीड़ित होकर
निकलें अपने घर को
तो कानून के दुश्मन कहलाते हैं हम,
वोट देकर क्या अपने प्राण ही
गिरवी रख दिए हैं हमनें
सरकार के पास?

जो हर बात में हामी भर दें
सरकार की
तो ही अच्छे नागरिक कहलाते हैं हम,
वोट देकर क्या अपना विवेक ही
गिरवी रख दिया है हमनें
सरकार के पास?

जितेन्द्र ' कबीर '
संपर्क सूत्र - 7018558314