------ तीखा तीर -----


मन  की  बात से  प्रचार का  

लिय़ा  तरीका  खोज  

सिंहासन  हासिल  हो  गया 

फकीरी में ढूंडी मौज 

अन्नदाता खुले आशमान  में

ठंडी  से मिल रही मौत  

----- वीरेन्द्र  तोमर