चिकोटी


देश प्रेम में बैंक से,

रचा रहा था रास।

नीरव मोदी की तरह,

अपना ठाकुर दास।

करें अभिनंदन उसका।

पुष्प से वन्दन उसका।


धीरु भाई