खोटा ' सौदा '


रिश्वतें देकर रुपयों-पैसों,

कीमती धातुओं, हीरे-जवाहरात की,

दिन-रात स्तुति गान में रमे रहकर,

' सौदे ' बहुत किये लोगों ने

ईश्वर के साथ,

अफसोस, कोई भी सौदा अनंतकाल तक

टिक ना पाया।

जितेन्द्र ' कबीर '

संपर्क सूत्र - 7018558314