दक्षिण अफ्रीका में कोरोना के बढ़ने के कारण अस्पतालों में बिस्तरों एवं ऑक्सीजन की कमी


जोहानिसबर्ग : दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के कारण अस्पतालों में बिस्तरों एवं ऑक्सीजन की कमी होने के मद्देनजर मंत्रियों और शीर्ष अधिकारियों की क्रिसमस और नए साल की छुट्टियां रद्द करके उनकी बैठक बुला सकते हैं, ताकि वैश्विक महामारी से निपटने के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जा सके. साप्ताहिक ‘संडे टाइम्स' ने एक सरकारी सूत्र के हवाले से कहा, ‘‘मैं पूरे भरोसे से बता सकता हूं कि (रामाफोसा की बुलाई) बैठक मंगलवार को होगी, जिसमें इस बात पर विचार-विमर्श किया जाएगा कि तेजी से बढ़ रहे इस संक्रमण को कैसे काबू में किया जा सकता है.''

देश में पिछले एक सप्ताह से संक्रमण के रोजाना 14,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं. देश में शनिवार शाम तक संक्रमण के कुल मामले 9,95,000 थे. अब तक कुल 26,521 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्री ज्वेली एमखिजे ने संक्रमण की दूसरी लहर को पहली लहर से भी अधिक खतरनाक बताया. पर्यटन मंत्री एमामोलोको कुबायी-एनगुबाने ने बताया कि लोगों ने प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया. इसके कारण संक्रमण के मामले फिर से तेजी से बढ़ रहे हैं.

चिकित्सकों एवं नर्सों ने सरकार से तत्काल कार्रवाई करने की अपील की है. चिकित्सकों का कहना है कि उनके लिए यह तय करना बेहद मुश्किल है कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप के कारण संक्रमित हुए युवा लोगों का पहले इलाज किया जाए या अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त बुजुर्गों का पहले उपचार किया जाए. जोहानिसबर्ग में एक चिकित्सक ने कहा, ‘‘यह भावनात्मक रूप से थकाने वाला है, क्योंकि हमें यह फैसला करना है कि पहले कौन मरेगा. हमारे पास पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं है.'' ‘साउथ अफ्रीकन मेडिकल एसोसिएशन' ने पुष्टि की कि ऑक्सीजन की कमी भी चिकित्सकों को चिंतित कर रही है.