योगी ने कोविड-19 के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत पूरी सतर्कता बरतने के दिए निर्देश


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रोएक्टिव होकर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना के नए स्ट्रेन की जांच के सम्बन्ध में प्रदेश की प्रयोगशालाओं को उच्चीकृत करते हुए टेस्टिंग की सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने सर्विलांस तथा काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग की व्यवस्था को प्रभावी ढंग से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जनपद लखनऊ में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग में वृद्धि की जाए। मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से बचाव व उपचार की व्यवस्था को प्रभावी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड चिकित्सालयों में औषधियों, मेडिकल उपकरण तथा ऑक्सीजन की पिकअप सहित पर्याप्त उपलब्धता रहे। मेडिकल काॅलेज एवं अन्य अस्पतालों में सीनियर फैकल्टी वाॅर्ड में नियमित राउण्ड लगाकर वहां भर्ती प्रत्येक मरीज को देखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के सम्बन्ध में हर स्तर पर निरन्तर सावधानी बरतना आवश्यक है। इसमें थोड़ी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को लगातार जागरूक किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि जनता को सोशल डिस्टेन्सिंग तथा मास्क के अनिवार्य उपयोग के बारे में प्रेरित व प्रोत्साहित किया जाए। जागरूकता सृजन के लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाए। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।